News Update !.

माधव प्लाजा में पूर्ण राशि जमा कर चुके हितग्राहियों की रजिस्ट्री सात दिवस में करायेंगे : सीईओ श्री के. के. सिंह गौर ग्वालियर २८ जनवरी| माधव प्लाजा के हितग्राहियों के साथ आज एक वृहद बैठक का आयोजन आज चेम्बर भवन में सायंकाल ४.३० बजे किया गया| बैठक में ग्वालियर विकास प्राधिकरण के मुख्य कार्यपालन अधिकारी-श्री के.के. सिंह गौर, प्रमुख अभियंता-श्री सुभाष सक्सेना व काफी संख्या में माधव प्लाजा के हितग्राही उपस्थित रहे| बैठक की अध्यक्षता कर रहे अध्यक्ष विजय गोयल ने उपस्थित महानुभावों का हार्दिक स्वागत करते हुए कहा कि माधव प्लाजा में हितग्राहियों को आ रही परेशानियों को दूर करने हेतु आज ग्वालियर विकास प्राधिकरण के सीईओ को यहां आमंत्रित किया गया है| इससे पूर्व हितग्राहियों की परेशानी को संभागायुक्त महोदय के समक्ष रखा गया था| आपने कहा कि जीडीए के पास पर्यावरण की एनओसी न होने के कारण इस प्रोजेक्ट में देरी हुई है और इस विलंब का उत्तरदायित्व हितग्राहियों पर नहीं डाला जाना चाहिए| ऐसे हितग्राही जिनकी कुछ किश्तें शेष रहीं है, उनसे ब्याज की मांग पूर्णत: अनुचित है क्योंकि इसमें हितग्राही दोषी नहीं है| मानसेवी सचिव डॉ. प्रवीण अग्रवाल ने कहा कि संभागायुक्त महोदय से हुई चर्चा में हमने स्पष्ट कहा था कि ब्याज की मांग बिल्कुल अनुचित है और इसे हम हितग्राहियों से लेने नहीं देंगे| जिन हितग्राहियों ने अपनी पूर्ण राशि जमा कर दी है, उनकी जल्द से जल्द रजिस्ट्री कराई जानी चाहिए और मेंटनेंस शुल्क में छह माह की छूट मिलना चाहिए| संभागायुक्त महोदय ने ब्याज माफ करने हेतु शासन को प्रस्ताव भेजने तथा मेंटनेंस शुल्क रजिस्ट्री कराने के तीन माह तक तथा दुकान खुलने के पश्‍चात् तीन माह तक मेंटनेंस चार्ज न लिये जाने का प्रस्ताव पास करने की बात कही थी| आज की बैठक में माधव प्लाजा में पूर्ण राशि जमा कर चुके हितग्राहियों की परेशानी दूर करने तथा रजिस्ट्री में आ रही बाधाओं को दूर करने हेतु आयोजित की गई है| जल्द ही आगामी बैठक उन हितग्राहियों के साथ होगी जिनकी किश्तें शेष रही हैं| आपने कहा कि माधव प्लाजा के हितग्राही रजिस्ट्री, नामांतरण आदि से संबंधित आवेदन चेम्बर के माध्यम से प्रेषित करें ताकि उनका शीघ्र निराकरण कराया जा सके| कोषाध्यक्ष-वसंत अग्रवाल ने कहा कि माधव प्लाजा प्रोजेक्ट में जीडीए से हुई चूक के कारण हुई देरी से हितग्राहियों को विश्‍वास जीडीए व शासन की योजनाओं से उठ गया है| रैरा अब मप्र में लागू है तो माधव प्लाजा के हितग्राहियों को उसके अनुसार ही रजिस्ट्री व अन्य सुविधाएं जीडीए को देना चाहिए| प्रोजेक्ट में हुई देरी से माधव प्लाजा का रिनोवेशन व पार्किंग की व्यवस्था भी की जाना चाहिए| बैठक में उपस्थित हुए माधव प्लाजा के हितग्राहियों ने कहा कि जिस उद्देश्य से माधव प्लाजा में दुकानें बुक कराई थीं, वह प्रोजेक्ट में हुई देरी से पूरा नहीं हो सका है| ५ वर्ष से अधिक समय पूर्व पूरी राशि जमा करने के बाद भी आज तक रजिस्ट्री नहीं हो सकी है| कई हितग्राहियों ने बैंक से ऋण लेकर दुकानें ली थीं| जीडीए जो राशि जमा की थी आज यदि उसकी एफडी करते तो उससे लाखों रूपये ब्याज मिल जाता परंतु जीडीए अपनी गलती होने के बाद भी हितग्राहियों से ब्याज की राशि मांग रहा है जो हितग्राहियों के साथ न्याय नहीं है| जिन्होंने दुकान बुक कराई थी, उस हितग्राही का निधन होने पर नामांतरण कई चक्कर लगाने के बाद भी कार्य नहीं हो पा रहा है| यदि कोई हितग्राही रिफण्ड मांगता है तो उसे रिफण्ड नहीं दिया जा रहा है| ग्वालियर विकास प्राधिकरण के मुख्य कार्यपालन अधिकारी-श्री के.के. सिंह गौर ने कहा कि माधव प्लाजा प्रोजेक्ट में पर्यावरण एनओसी न होने के कारण विलंब हुआ है और इसमें उस समय के अधिकारियों से निश्‍चित ही चूक हुई है हालांकि हमारे द्बारा वर्ष २०१४ में एनओसी के लिए प्रस्ताव भेजा था जो कि हमें पांच वर्ष बाद वर्ष २०१९ में प्राप्त हो सकी| जीडीए से आपको जो शिकायतें वह होना भी चाहिए| आपने विश्‍वास दिलाया कि मैं अपने रहते माधव प्लाजा से संबंधित समस्याओं का निराकरण शीघ्रता से करूंगा| प्रदेश में सभी प्राधिकरण स्वयं का रेवेन्यू जनरेट करके आगे बढते हैं और नो प्रोफिट-नो लॉस पर कार्य करते हैं| गाइडलाइन के आधार पर हम भूमि/प्लॉट का आवंटन करते हैं| माधव प्लाजा में कई चैलेंज थे, जिन्हें हमने दूर किया है आपने कहा कि इस प्रोजेक्ट पर जीडीए ९० करोड़ रूपये खर्च कर चुका है और लगभग १५ करोड़ रूपये और खर्च होंगे जबकि हितग्राहियों से हमें ६० करोड़ रूपये प्राप्त हुए हैं और इसमें से हमने १५ करोड़ रूपये रिफण्ड भी किया है| चूंकि जीडीए शासन के नियमों से बंधा हुआ है इसलिए जिन हितग्राहियों की किश्तें शेष हैं, उनसे ब्याज नियमानुसार लेना चाहिए किंतु इस प्रोजेक्ट में देरी पर्यावरण एनओसी के कारण हुई इसलिए ब्याज न लिये जाने का प्रस्ताव हमने शासन को भेजा है और जनप्रतिनिधियों से चर्चा में यह आश्‍वासन मिला है कि माननीय मुख्यमंत्री महोदय से ब्याज न लिये जाने का निर्णय कराने का प्रयास होगा| आपने बताया कि इसमें ५५१ दुकानें हैं जिनमें से १५० हितग्राहियों ने पूर्ण राशि जमा कर दी है, १८० हितग्राहियों का पार्ट पेमेंट जमा हुआ है, जबकि १५० दुकानें अब भी शेष हैं जिसमें ७५ ग्राउण्ड फ्लोर पर हैं, जिन्हें कि सर्राफा व्यवसायी ले सकते हैं| इस प्रोजेक्ट में चूंकि व्यक्ति ए.सी. नहीं लगाया जा सकता था इसलिए सेन्ट्रल ए.सी. प्लांट लगाया गया है, जिसकी डिमांड हितग्राही से की जा रही है| आपने कहा कि रजिस्ट्री दिनांक से ३ माह तक मेंटेनेंस चार्ज नहीं लिया जायेगा| माधव प्लाजा में पेड पार्किंग है, जो कि दुकानदारों को नॉमीनल चार्जेज पर दी जायेगी| आपने कहा कि इस प्रोजेक्ट में खाली जगह हम मल्टीप्लेक्स को दे रहे हैं ताकि जिसका फायदा हितग्राहियों को मिलेगा| आपने कहा कि माधव प्लाजा के हितग्राहियों के लिए अलग से विण्डो स्थापित की जायेगी| हितग्राहियों की रजिस्ट्री, नामांतरण आदि कार्य ७ दिवस में कराया जायेगा| बैठक का संचालन मानसेवी सचिव-डॉ. प्रवीण अग्रवाल तथा आभार संयुक्त अध्यक्ष-प्रशांत गंगवाल द्बारा व्यक्त किया गया| अतिथि को स्मृति चिन्ह कोषाध्यक्ष वसंत अग्रवाल द्बारा भेंट किया गया| बैठक में रवि प्रताप अग्रवाल, शरद अग्रवाल, राकेश अग्रवाल, सुदर्शन झंवर, विमल गुप्ता, नेमीचंद गोयल, शोभा गुप्ता, बालचंद जैन, रमेशचंद गुप्ता, शशिकांत माहेश्‍वरी, घनश्याम गुडसेले, रामेन्द्र सिंह कुशवाह, मनोज चौरसिया, नरेन्द्र सिंह सिकरवार आदि उपस्थित थे|

गणतंत्र दिवस के अवसर पर अध्यक्ष-विजय गोयल ने ‘चेम्बर भवन’ पर किया ध्वजारोहण ग्वालियर, 27 जनवरी । गणतंत्र दिवस के पावन अवसर पर मंगलवार, 26 जनवरी को प्रातः 9.00 बजे, एमपीसीसीआई, अध्यक्ष-श्री विजय गोयल द्वारा ‘चेम्बर भवन’ पर ध्वजारोहण किया गया । इस अवसर पर अध्यक्ष-विजय गोयल ने 72वें ‘गणतंत्र दिवस’ पर अपनी ओर से एवं अपने साथी पदाधिकारियों की ओर से उपस्थित सदस्य महानुभावों को हार्दिक बधाई एवं शुभकामनाएँ देते हुए कहा कि ः- बंधुओं, जैसा कि हम सभी को पता है कि ‘गणतंत्र दिवस’, भारत का एक राष्ट्रीय पर्व है, जो कि हम, आज ही के दिन 26 जनवरी को मनाते हैं क्योंकि एक स्वतंत्र गणराज्य बनने और देश में कानून का राज स्थापित करने के लिए संविधान को 26 नवम्बर,1949 को भारतीय संविधान सभा द्वारा अपनाया गया और 26 जनवरी,1950 को इसे एक लोकतांत्रिक सरकार प्रणाली के साथ लागू किया गया था । बंधुओं, भारत के संविधान की प्रस्तावना में स्पष्ट रूप से हम सभी को भारत को एक सम्पूर्ण प्रभुत्व सम्पन्न, समाजवादी, पंथनिरपेक्ष लोकतंत्रात्मक गणराज्य बनाने के लिए तथा देश के समस्त नागरिकों को, सामाजिक, आर्थिक और राजनीतिक न्याय, विचार, अभिव्यक्ति, विश्‍वास, धर्म और उपासना की स्वतंत्रता, प्रतिष्ठा और अवसर की समता प्रदान की गई है । बंधुओं, हम जितना सोच सकते हैं, उससे कहीं अधिक हमारे संविधान निर्माताओं द्वारा हमें लिखित रूप में संविधान की मूल अवधारणा में पहले ही दिया जा चुका है, परन्तु आज के वातावरण में अक्सर देखने में आ रहा है कि संविधान में मिले स्वतंत्रता के अधिकार को लोगों द्वारा गलत उपयोग किया जा रहा है और वह अपने हकों की लड़ाई के दौरान किए जाने वाले धरना-प्रदर्शन में यह भूल जाते हैं कि उनके द्वारा किए जाने वाले आंदोलन से दूसरों के संवैधानिक अधिकारों का भी हनन हो रहा है । शहर अथवा राष्ट्रीय राजमार्ग के यातायात को बाधित करने से राष्ट्र की प्रगति पर प्रतिकूल असर पड़ता है, किसी भी मार्ग को अवरुद्ध करने से अच्छा है कि विरोध व्यक्त करने के अन्य ऐसे विकल्पों पर विचार किया जाना चाहिए, जिससेव्यापार-उद्योग प्रभावित न हो और न ही आमजनता को असुविधा न हो । बंधुओं, आज हमें अपने देश के महान् वैज्ञानिकों पर गर्व करने का भी अवसर है क्योंकि हमारे देश के वैज्ञानिकों ने ‘कोविड-19’ का टीका (वैक्सिन) मात्र 10 माह के अथक परिश्रम से विकसित कर, सम्पूर्ण विश्‍व को एक संदेश दिया है । आज स्थिति यह है कि दुनिया के अनेक राष्ट्र हमसे कोरोना की वैक्सिन उपलब्ध कराने की गुहार लगा रहे हैं और यह हमारी नैतिकता एवं व्यवहारिकता है कि दुनिया के अन्य देशों को हम, अपनी वैक्सिन उसी कीमत पर उपलब्ध करा रहे हैं, जिस मूल्य पर हमें, निजी कम्पनियों द्वारा उपलब्ध कराई गई है । यह हमारी विश्‍व बंधुत्व की भावना एवं “ऊँ सर्वे भवन्तु सुखिनः सर्वे सन्तु निरामयाः । सर्वे भद्राणि पश्यन्तु मा कश्‍चित दुःख भाग्भवेत । ऊँ शांतिः शान्तिः शान्तिः ॥” अर्थात् हम, सभी के सुखी होने, सभी रोग मुक्त रहें, सभी मंगलमय घटनाओं के साक्षी बनें और किसी को भी दुःख का भागी न बनना पड़े । इसकी कामना करते हुए, ईश्‍वर से विश्‍व शांति की कामना करते हैं । साथियों, आज हमें इस बात का विशेष ध्यान रखने की भी आवश्यकता है कि भले ही हमारे देश में वैक्सीनेशन का कार्य प्रारम्भ हो चुका है, परन्तु जब तक कोरोना महामारी पूरी तरह से नियंत्रण में नहीं आ जाती, तब तक हमें मास्क का उपयोग आवश्यक रूप से करना है । साथ ही, हमें कोविड-19 की गाईड लाईन का भी कड़ाई से पालन करना है, तभी हम एवं हमारा परिवार व समाज इस भयंकर बीमारी से बच सकेगा क्योंकि इस कोरोना वायरस के संक्रमण से हमारी इस संस्था के ही कई सदस्य महानुभाव, असमय मृत्यु का शिकार हो चुके हैं । आज के इस पावन अवसर पर मेरी आप सभी से विनम्र अपील है कि हमें अपने व्यवसाय व उद्योगों की प्रगति के साथ-साथ राष्ट्र के गौरव एवं स्वाभिमान को बढ़ाने वाले प्रत्येक ऐसे कार्य में अपनी भागीदारी बढ़चढ़कर सुनिश्‍चित करनी चाहिए, जिसमें हमारा खोया हुआ स्वाभिमान, एक बार पुनः पुनर्स्थापित हो सके । आज ऐसे ही गौरव का अवसर हमें प्राप्त हो रहा है, जब हमारी अयोध्या नगरी में भगवान श्रीराम का भव्य एवं विशाल मंदिर निर्माण होने जा रहा है । यह हमारा सौभाग्य है कि हमारे जीवन में यह कार्य होने जा रहा है । इसलिए सनातन धर्म के गौरव को विश्‍व पटल पर परिलक्षित करने एवं इस महायज्ञ में अपनी आहूति अवश्य देकर, अपनी सहभागिता निभानी चाहिए । क्योंकि जीवन मेंऐसे अवसर बार-बार नहीं आते । अंत में आपने एक बार पुनः कार्यक्रम में पधारने पर, उपस्थित महानुभावों के प्रति सहृदर धन्रवाद व्रक्त किया । कार्यक्रम का संचालन, मानसेवी सचिव-डॉ. प्रवीण अग्रवाल एवं कार्यक्रम के अंत में आभार, संयुक्त अध्यक्ष-प्रशांत गंगवाल ने व्यक्त किया । इस अवसर पर उपाध्यक्ष-पारस जैन, कोषाध्यक्ष-वसंत अग्रवाल एवं पूर्व अध्यक्ष-डॉ. वीरेन्द्र कुमार गंगवाल सहित काफी संख्या में कार्यकारिणी सदस्यगण व सदस्य महानुभाव उपस्थित थे ।

‘क्रिकेट प्रीमियर लीग’ मैच में ‘गूजरी सनराइजर्स’ बनी विजेता प्रदेश के ऊर्जा मंत्री-माननीय श्री प्रद्युम्न सिंह तोमर ने विजेता टीम को प्रदान की रनिंग ट्रॉफी कार्यक्रम का शुभारम्भ प्रातः 9.00 बजे मुख्य अतिथि, सांसद-माननीय श्री विवेक नारायण शेजवलकर जी द्वारा किया गया, इस अवसर पर विशिष्ठ अतिथि के रूप में नगर-निगम, आयुक्त-श्री शिवम वर्मा एवं अपर अपर आयुक्त, श्री नरोत्तम भार्गव सहित भाजपा के जिलाध्यक्ष-श्री कमल माखीजानी हुए उपस्थित कार्यक्रम में स्वादिष्ट व्यंजनों की सदस्यगणों एवं उनके परिजनों ने लुत्फ उठाकर की की भूरि-भूरि प्रशंसा ‘कार्निवाल’ के तहत आयोजित विभिन्न गेम का संस्था के सदस्यों एवं उनके परिजनों ने किया मनोरंजन और जीते ठेर सारे इनाम ग्वालियर, 25 जनवरी । म. प्र. चेम्बर ऑफ कॉमर्स एण्ड इण्डस्ट्री, ग्वालियर के सदस्यों एवं उनके परिजनों के लिए रविवार, 24 जून को “नववर्ष मिलन समारोह-2021” का आरोजन कै. रूप सिंह स्टेडियम में भव्य रूप में किया गया । कार्यक्रम का सुभारम्भ मुख्य अतिथि, सांसद-माननीय श्री विवेक नारायण शेजवलकर जी द्वारा किया गया । इस अवसर पर विशिष्ठ अतिथि के रूप में नगर-निगम, आयुक्त-श्री शिवम वर्मा एवं अपर अपर आयुक्त, श्री नरोत्तम भार्गव सहित भाजपा के जिलाध्यक्ष-श्री कमल माखीजानी उपस्थित थे । अतिथिगणों द्वारा प्रत्येक टीम के खिलाड़ी से परिचय प्राप्त किया गया तथा बाद में स्वयं क्रिकेट की एक-एक गेंद पर शॉट लगाकर, क्रिकेट प्रीमियर लीग का शुभारम्भ किया गया । एमपीसीसीआई अध्यक्ष-विजय गोयल, संयुक्त अध्यक्ष/संयोजक-प्रशांत गंगवाल, उपाध्यक्ष/सहसंयोजक-पारस जैन, मानसेवी सचिव-डॉ. प्रवीण अग्रवाल, मानसेवी संयुक्त सचिव/सहसंयोजक-ब्रजेश गोयल एवं कोषाध्यक्ष/सहसंयोजक-वसंत अग्रवाल सहित क्रिकेट मैच आयोजन समिति के संयोजकद्वय-दीपक अग्रवाल व संदीप नारायण अग्रवाल ने प्रेस को जारी विज्ञप्ति में अवगत कराया कि नववर्ष मिलन समारोह के अन्तर्गत संस्था के सदस्यों के लिए क्रिकेट प्रीमियर लीग एवं कार्निवाल का आयोजन कै. रूप सिंह स्टेडियम में प्रातः 09.00 बजे से किया गया । उक्त आयोजन में संस्था के सदस्यगणों एवं परिजनों ने क्रिकेट प्रीमियर लीग के तहत् आयोजित सभी मैचों एवं इस अवसर पर फूड कोड में परोसे गए विभिन्न प्रकार के स्वादिष्ट व्यंजनों का भरपूर लुत्फ उठाया गया । साथ ही, इस अवसर पर प्रथम बार आयोजित कार्निवाल के तहत विभिन्न खेलों का भी संस्था के सदस्यों व उनके बच्चों ने भरपूर आनन्द उठाया और काफी संख्या में पुरस्कार जीते । क्रिकेट प्रीमियर लीग के तहत कुल 08 टीम के मध्य मैच खेले गए । इसके तहत प्रथम लीग मैच, सावरकर चैलेंजर एवं फोर्ट नाइटराइडर्स के मध्य आयोजित हुआ । इस मैच में सावरकर चैलेंजर्स ने 51 रन एवं फोर्ट नाइटराइडर्स ने 58 रन बनाकर सात रन से विजय प्राप्त की । मैन ऑफ द मैच, श्री संदीपनारायण अग्रवाल को घोषित किया गया । द्वितीय लीग मैच, गालव डेयरडेविल्स एवं जयविलास किंग इलेवन के मध्य खेला गया । इसमें गालव डेयरडेविल्स ने 54 रन एवं जयविलास किंग इलेवन ने 61 रन बनाकर, सात रन से विजय प्राप्त की । मैन ऑफ द मैच, श्री प्रशांत गंगवाल जी को घोषित किया गया । तृतीय लीग मैच, मानसिंह वॉरियर्स एवं गूजरी सनराइजर्स के मध्य खेला गया । इसमें मानसिंह वॉरियर्स ने 26 रन बनाए एवं गूजरी सनराइजर्स ने 89 रन बनाकर, 63 रन से विजय प्राप्त की । मैन ऑफ द मैच, श्री अंशुमन अग्रवाल को घोषित किया गया । चतृर्थ लीग मैच, जीवाजी रॉयल्स एवं तानसेन चेलेन्जर्स के मध्य खेला गया । इसमें जीवाजी रॉयल्स ने 48 रन बनाए एवं तानसेन चेलेन्जर्स ने 58 रन बनाकर, 10 रन से विजय प्राप्त की । मैन ऑफ द मैच, श्री रवि शर्मा को घोषित किया गया । इसके पश्‍चात् दो सेमीफायनल मैचों का आयोजन किया गया । प्रथम सेमीफायनल मैच के तहत् फोर्ट नाइटराइडर्स एवं जयविलास किंग इलेवन के मध्य मैच खेला गया । इसमें फोर्ट नाइटराइडर्स ने 66 रन बनाए एवं जयविलास किंग इलेवन, मात्र 54 रन पर सिमट गई । इस प्रकार फोर्ट नाइटराइडर्स फायनल में पहुँच गई । मैन ऑफ द मैच, श्री सुभाष गुप्ता को घोषित किया गया । द्वितीय सेमीफायनल मैच के अन्तर्गत तानसेन चैलेंजर एवं गूजरी सनराईजर के मध्य मैच खेला गया । तानसेन चैलेंजर्स ने 36 रन बनाए और गूजरी सनराइजर्स द्वारा 40 रन बनाकर, अपना स्थान फायनल मैच के लिए सुरक्षित कर लिया । मैन ऑफ द मैच, श्री अंकुर अग्रवाल को घोषित किया गया । अंत में फायनल मैच का आयोजन हुआ । इसमें फोर्ट नाइटराइडर्स द्वारा 35 रन बनाए गए तथा गूजरी सनराइजर्स द्वारा 58 रन बनाकर, 23 रन सेफायनल मैच में अपनी जीत दर्ज कराई गई । फायनल मैच में, मैन ऑफ द मैच, श्री अंकुर अग्रवाल को घोषित किया गया । इसी के साथ, वेस्ट ऑल राउण्डर ऑफ द टूर्नामेंट, गूजरी सनराइजर्स के खिलाड़ी, श्री अंकुर अग्रवाल को, वेस्ट वेट्समैन, गूजरी सनराइजर्स टीम के खिलाड़ी श्री अंशुमन अग्रवाल को, वेस्ट वॉलर गूजरी सनराइजर्स के खिलाड़ी, श्री मनीष अग्रवाल को वेस्ट फील्डर, गूजरी सनराइजर्स टीम के खिलाड़ी श्री साकेत सोमानी को तथा वेस्ट कैच का खिताव गूजरी सनराइजर्स के खिलाड़ी श्री रवि जैन को प्रदान किया गया । फायनल विजेता टीम, गूजरी सनराइजर्स को कार्यक्रम के मुख्य अतिथि प्रदेश के ऊर्जा मंत्री-माननीय श्री प्रद्युम्न सिंह तोमर जी द्वारा “रनिंग ट्रॉफी” प्रदान की गई । साथ ही, विजेता टीम एवं उपविजेता टीम के प्रत्येक खिलाड़ी को मुख्य अतिथि द्वारा कप प्रदान किए गए । प्रातः 9.00 बजे से रात्रि में 10.30 बजे तक आयोजित कार्यक्रम में संस्था के सदस्यगणों एवं उनके परिजनों ने काफी संख्या में पहुँच कर, कार्यक्रम का भरपूर आनन्द उठाया और पूरे कार्यक्रम की भूरि भूरि प्रशंसा की ।

एमपीसीसीआई के प्रयासों को मिली बड़ी सफलता बिजली कंपनी जिस माह की एमडी बढी हुई थी, केवल उसी माह की कर सकेगी पैनल बिलिंग, बाकी बिलिंग करनी पड़ेगी समाप्त ग्वालियर 23 जनवरी| विद्युत वितरण कंपनी के भोपाल ऑडिट विभाग द्बारा 25 एचपी तक के औद्योगिक उपभोक्ताओं पर वर्ष 2015 से उपभोक्ता की बढी एमडी के आधार पर लाखों रूपये की बिलिंग कर दी थी, जिसके संबंध में एमपीसीसीआई द्बारा पिछले 06 माह से लगातार पत्राचार किया जा रहा था| एमपीसीसीआई के पदाधिकारियों के प्रतिनिधिमण्डल ने ऊर्जा मंत्री श्री प्रद्युम्न सिंह तोमर से मुलाकात कर, इस पर आपत्ति जताते हुए मांग की थी कि केवल जिस माह की एम.डी. बढी हुई है, उसी माह की बिलिंग की जाना चाहिए| ऊर्जा मंत्री-श्री प्रद्युम्न सिंह तोमर द्बारा एमपीसीसीआई की मांग पर सहमति जताते हुए बिजली कंपनी को निर्देशित किया गया था| एमपीसीसीआई अध्यक्ष-विजय गोयल, संयुक्त अध्यक्ष-प्रशांत गंगवाल, उपाध्यक्ष-पारस जैन, मानसेवी सचिव-डॉ. प्रवीण अग्रवाल, मानसेवी संयुक्त सचिव-ब्रजेश गोयल एवं कोषाध्यक्ष-वसंत अग्रवाल द्बारा प्रेस को जारी विज्ञप्ति में अवगत कराया गया है कि म.प्र. चेम्बर ऑफ कॉमर्स एण्ड इण्डस्ट्री (एमपीसीसीआई) के प्रयासों को बड़ी सफलता प्राप्त हुई है| एमपीसीसीआई की मांग पर बिजली कंपनी के भोपाल मुख्यालय द्बारा इस पर निर्देश जारी करते हुए स्पष्ट कर दिया है कि केवल एमडी बढे हुए माह की प्रचलित टैरिफ के अनुसार वसूल की जाए| बिजली कंपनी द्बारा जारी किये गये निर्देश से औद्योगिक उपभोक्ताओं को राहत मिलेगी| एमपीसीसीआई के पदाधिकारियों ने इस पर ऊर्जा मंत्री श्री प्रद्युम्न सिंह तोमर के प्रति आभार व्यक्त किया है|

ग्वालियर व्यापार मेला लगाए जाने की घोषणा अविलम्ब की जाए एवं आरटीओ टैक्स में 50% की छूट भी दी जाए ः एमपीसीसीआई प्रदेश के मुख्यमंत्री-माननीय श्री शिवराज सिंह चौहान, केन्द्रीय मंत्री-माननीय श्री नरेन्द्र सिंह तोमर, सांसद-माननीय श्री विवेकनारायण शेजवलकर, सांसद एवं पूर्व केन्द्रीय मंत्री-माननीय श्रीमंत ज्योतिरादित्य सिंधिया सहित एमएसएमई मंत्री-माननीय श्री ओमप्रकाश सखलेचा को चेम्बर ने लिखा पत्र ग्वालियर, 20 जनवरी । एमपीसीसीआई द्वारा आज प्रदेश के मुख्यमंत्री-माननीय श्री शिवराज सिंह चौहान, केन्द्रीय मंत्री-माननीय श्री नरेन्द्र सिंह तोमर, सांसद-माननीय श्री विवेकनारायण शेजवलकर, सांसद एवं पूर्व केन्द्रीय मंत्री-माननीय श्रीमंत ज्योतिरादित्य सिंधिया सहित एमएसएमई मंत्री-माननीय श्री ओमप्रकाश सखलेचा को पत्र प्रेषित करके ग्वालियर व्यापार मेला के आयोजन की अविलम्ब घोषणा किए जाने सहित आरटीओ टैक्स में 50% की छूट दिए जाने की माँग की गई है । चेम्बर के अध्यक्ष-विजय गोयल, संयुक्त अध्यक्ष-प्रशांत गंगवाल, उपाध्यक्ष-पारस जैन, मानसेवी सचिव-डॉ. प्रवीण अग्रवाल, मानसेवी संयुक्त सचिव-ब्रजेश गोयल एवं कोषाध्यक्ष-वसंत अग्रवाल ने प्रेस को जारी विज्ञप्ति में कहा है कि ग्वालिरर में मेला का आयोजन विगत् 114 वर्षों से भी अधिक समय से निरन्तर आयोजित हो रहा है । इस व्रापार मेले की ख्राति मध्रप्रदेश में ही नही, अपिुत सम्पूर्ण देश में रही है । इस ऐतिहासिक व्यापार मेला को कोविड-19 से बचाव के साथ कैसे आयोजित किया जा सकता है । इस पर विचार-विमर्श हेतु हमारे द्वारा दिनांक 21 दिसम्बर,20 को एक बैठक का आयोजन ‘चेम्बर भवन’ में किया गया था । उक्त बैठक में उपस्थित मेला के व्यवसाईयों द्वारा विश्‍वास दिलाया गया था कि वह स्वयं कोविड-19 के मानकों जैसे मास्क, सेनेटाइजर का प्रयोग करेंगे एवं मेला में आने वाले सभी ग्राहकों को भी इसके उपयोग के लिए प्रेरित, करेंगे । साथ ही, किसी भी ग्राहक को इसके बिना इंटरटेन नहीं करेंगे । पदाधिकारियों ने अवगत कराया है कि एमपीसीसीआई द्वारा आज प्रेषित पत्रों में उल्लेख किया गया है कि ग्वालियर का ऐतिहासिक व्यापार मेला ग्वालियर की शान है । इसलिए इसका आयोजन अवश्य ही किया जाना चाहिए, जिस प्रकार हम अपने बाजारों में कोरोना के मानकों का स्वयं पालन करते हैं, वैसे ही मेला में भी व्यवसाई करेंगे, इसका आपको विश्‍वास दिलाते हैं । एमपीसीसीआई ने इसके साथ ही, माँग की है कि ग्वालियर व्यापार मेला में गत् वर्ष की भांति ही इस वर्ष भी ऑटोमोबाइल्स पर गैर परिवहन यानों तथा छोटे परिवहन यानों पर रोड टेक्स में 50% छूट शासन द्वारा उपलब्ध कराई जाए, जो कि मेला अवधि के दौरान विक्रित वाहनों के लिए ही हो । साथ ही, मेला में विभिन्न प्रदेशों की प्रदर्शनियों एवं औद्योगिक प्रदर्शनियाँ भी लगाई जाएँ । इससे मेला का आकर्षण और भी अधिक बढ़ेगा ।

माधव प्लाजा के हितग्राहियों की समस्याओं पर संभागीय आयुक्त, श्री आशीष सक्सेना के साथ बैठक आयोजित व्यवसाई जीडीए को शेष किस्तों पर नहीं देंगे ब्याज ः एमपीसीसीआई ग्वालियर, 18 जनवरी । माधव प्लाजा के व्यवसाईयों की समस्याओं के संबंध में आज एमपीसीसीआई के पदाधिकारी ने संभागीय आयुक्त-श्री आशीष सक्सेना जी से उनके मोतीमहल स्थित कार्यालय में भेंट की और एमपीसीसीआई, अध्यक्ष-विजय गोयल, संयुक्त अध्यक्ष-प्रशांत गंगवाल एवं मानसेवी सचिव-डॉ. प्रवीण अग्रवाल ने संभागीय आयुक्त महोदय से स्पष्ट रूप से कहाकि माधव प्लाजा के हितग्राही किसी भी कीमत पर जीडीए को ब्याज नहीं देंगे क्योंकि काफी विलंब के बाद जीडीए को आवश्यक एनओसी प्राप्त हुई हैं, तब जीडीए द्वारा माधव प्लाजा के हितग्राहियों से रजिस्ट्री कराने के लिए कहा जा रहा है । प्रोजेक्ट बनाने से रजिस्ट्री कराने तक जो विलंब हुआ है, उस अवधि का हितग्राहियों से ब्याज माँगा जा रहा है, जो कि गैर कानूनी एवं रेरा की शतोंं के प्रतिकूल है । इसलिए स्पष्ट रूप से कहा गया कि हितग्राही ब्याज की राशि नहीं देंगे । संभागीय आयुक्त, श्री आशीष सक्सेना जी ने एमपीसीसीआई के पदाधिकारियों से कहाकि मैं, आपकी बात से सहमत हूँ और आपका यह प्रस्ताव राज्य शासन को प्रेषित किया जाएगा । साथ ही, आपने कहाकि संधारण शुल्क रजिस्ट्री के तीन माह बाद तक नहीं लिया जाएगा और दुकान खुलने के तीन माह तक भी संधारण नहीं लेंगे । आशय यह है कि जिस दिन रजिस्ट्री हो जाएगी, उसके तीन माह बाद यदि दुकान नहीं खोली गई, तो संधारण शुल्क हितग्राही को देना होगा । साथ ही, आपने कहाकि जो दुकानदार ब्याज के ऊपर शासन का निर्णय आने तक अगर बिना ब्याज के बकाया किस्त जमा करने को तैयार हैं, यदि ऐसा प्रस्ताव व्यापारियों की ओर से आता है, तो उस पर सहानुभूर्ति पूर्वक निर्णय लिया जाएगा ।

-माधव प्लाजा के हितग्राही बोले- जब तक ब्याज माफ नहीं, मेंटेनेंस पर चर्चा नहीं, हम माधव प्लाजा में नहीं जायेंगे माधव प्लाजा के हितग्राहियों के साथ ‘चेम्बर भवन’ में बैठक आयोजित ग्वालियर १६ जनवरी| माधव प्लाजा के हितग्राहियों के साथ आज चेम्बर भवन में सायंकाल ४.३० बजे एक बैठक का आयोजन किया गया| बैठक में अध्यक्ष-विजय गोयल, संयुक्त अयक्ष-प्रशांत गंगवाल, मानसेवी सचिव-डॉ. प्रवीण अग्रवाल, कोषाध्यक्ष-वसंत अग्रवाल सहित माधव प्लाजा के हितग्राही काफी संख्या में उपस्थित हुए| बैठक की अध्यक्षता कर रहे अध्यक्ष विजय गोयल ने कहा कि माधव प्लाजा का अनुभव व्यापारियों के लिए काफी बुरा रहा है| ग्वालियर विकास प्राधिकरण को इसे बनाने से पूर्व आवश्यक सभी एनओसी ली जाना चाहिए थी जो कि नहीं ली गईं जिसके कारण इसमें बुकिंग कराने वाले हितग्राहियों को काफी परेशानी हुई है| आपने कहा कि आज की बैठक आपसे विस्तृत चर्चा हेतु बुलाई है ताकि आपके सुझाव/मांग अनुसार संभागीय कमिश्‍नर महोदय व जनप्रतिनिधियों से चर्चा की जा सके| बैठक में संयुक्त अध्यक्ष-प्रशांत गंगवाल ने कहा कि विगत दिवस हुई बैठक में चेम्बर प्रतिनिधि के रूप में शामिल होने पर हमने मांग की थी कि चूंकि अब मध्यप्रदेश में रैरा लागू हो गया है और सभी प्रोजेक्ट इसके अंतर्गत आ चुके हैं तो रैरा के नियमानुसार माधव प्लाजा के हितग्राहियों के साथ व्यवहार होना चाहिए| जिन १५० से अधिक हितग्राहियों ने पार्ट पेमेंट जमा कराया है, उनसे आपके द्बारा जो ब्याज की मांग की जा रही है, वह गलत है| चूंकि प्रोजेक्ट में देरी जीडीए के पास पर्याप्त एनओसी नहीं होने के कारण हुई है| इसलिए हितग्राही का इसमें कोई दोष नहीं है| रैरा के नियमानुसार प्रोजेक्ट में देरी होने पर डेवलपर को हितग्राही को ब्याज देना होता इसलिए जीडीए को हितग्राहियों से ब्याज लेना नहीं बल्कि देना चाहिए| साथ ही बैठक में मांग की गई थी कि मेंटेनेंस चार्ज के लिए एक साल का समय हितग्राही को देना चाहिए| मानसेवी सचिव डॉ. प्रवीण अग्रवाल ने कहा कि हमें जीडीए से यह मांग करना चाहिए कि चूंकि प्रोजेक्ट में देरी जीडीए के पास आवश्यक एनओसी न होने के चलते हुई है इसलिए हम एक रूपया भी ब्याज नहीं देंगे वरन जीडीए को हमें रैरा नियमानुसार ब्याज देना चाहिए| साथ ही, मेंटनेंस चार्जेस दुकान की रजिस्ट्री होने के ६ माह अथवा ओपनिंग डेट जो पहले हो उस अनुसार लिया जाना चाहिए| कोषाध्यक्ष-वसंत अग्रवाल ने कहा कि चूंकि रैरा में माधव प्लाजा प्रोजेक्ट आ गया है तो उस अनुसार ही सुविधाएं हितग्राहियों को जीडीए द्बारा प्रदान की जाना चाहिए क्योंकि व्यापारियों ने अपनी रकम पहले जमा कर दी है और जीडीए द्बारा देरी होने पर हितग्राहियों को हानि उठाना पड़ी है| बैठक में माधव प्लाजा के हितग्राहियों ने एक राय होकर कहा कि हम जीडीए को एक रूपया भी ब्याज के रूप में नहीं देंगे बल्कि जीडीए को प्रोजेक्ट में देरी होने के कारण हमें ब्याज देना चाहिए| मेंटेनेंस चार्जेज क्या हों और यह कब से लिया जाये इस पर हितग्राहियों से चर्चा हो और सर्वसम्मति बनने पर यह न्यूनतम लिया जाये| साथ ही, रैरा की गाइडलाइन का पालन करते हुए ही रजिस्ट्री कराई जाए एवं हितग्राहियों को पजेशन दिया जाये| हितग्राहियों की मांगों पर जब तक सहमति नहीं बनती है, हम माधव प्लाजा में नहीं जायेंगे| बैठक का संचालन मानसेवी सचिव-डॉ. प्रवीण अग्रवाल द्बारा व्यक्त किया गया| बैठक में कार्यकारिणी सदस्य-रविप्रताप अग्रवाल, सदस्य-शरद अग्रवाल, माधव अग्रवाल आदि उपस्थित थे|

सरकार अपने वायदे पर खरा उतरेगी तो उद्यमी जरूर होंगे क्लस्टर में शामिल ग्वालियर १५ जनवरी| टिम्बर, पेन्ट एवं हार्डवेयर क्लस्टर बनाये जाने को लेकर आज चेम्बर भवन में सायंकाल ४.३० बजे बैठक का आयोजन किया गया| बैठक में जिला व्यापार एवं उद्योग केन्द्र से सहायक प्रबंधक-श्री अनिल श्रीवास्तव जी सहित टिम्बर, पेन्ट एवं हार्डवेयर उद्यमी उपस्थित रहे| बैठक की अध्यक्षता कर रहे अध्यक्ष विजय गोयल ने उपस्थित महानुभावों का हार्दिक स्वागत करते हुए कहा कि चेम्बर का हमेशा प्रयास रहता है कि ग्वालियर अंचल में नवीन औद्योगिक क्षेत्र स्थापित हों| कोविड-१९ काल से उबरने के बाद हम नये भविष्य की ओर बढ रहे हैं| नवीन मैन्युफेक्चरिंग क्लस्टर बनाये जाने को लेकर हम आज चर्चा कर रहे हैं| माननीय एमएसएमई मंत्री-श्री ओमप्रकाश सकलेचा ने इसका प्रस्ताव उपचुनाव के दौरान दिया था| शासन ने इसमें कदम बढाया है, आशा है कि आप सभी से आज हुई सार्थक चर्चा के बाद इसमें आगामी कार्यवाही होगी| मानसेवी सचिव डॉ. प्रवीण अग्रवाल ने सुझाव दिया कि टिम्बर एंड एलायड क्लस्टर में जितने भी ब्लॉक बनें उसके हर ब्लॉक में चाय/स्नैक के लिए जगह हो| इसमें प्राथमिक उपचार सेंटर हो| साथ ही, क्लस्टर में फायर ब्रिगेड के लिए भी स्थान आरक्षित हो ताकि आगजनी जैसी घटनाओं को तुरंत रोका जा सके| आपने कहा कि प्रपोजल को अंतिम करने से पहले कई दौर की बैठकें टेन्टिव एरिया व टेन्टिव रेट को लेकर उद्यमियों के बीच चर्चा हो और उसके बाद ही इस पर अंतिम रूप लेने का सरकार से हम अनुरोध करेंगे ताकि यह योजना मूर्तरूप लेकर सफल हो सके| कोषाध्यक्ष-वसंत अग्रवाल ने कहा कि क्लस्टर से आशय किसी वस्तु से संबंधित सभी निर्माण एक ही स्थान पर हों| शासन से हमें टिम्बर क्लस्टर का प्रस्ताव मिला है तो हमें इसमें तत्परता के साथ सहभागिता निभाना चाहिए| बैठक में उपस्थित हुए टिम्बर, पेन्ट एवं हार्डवेयर व्यवसायियों ने कहा कि क्लस्टर के लिए जमीन चिन्हित करने से डवलपमेंट तक के लिए समय सीमा निर्धारित हो और इस समय सीमा में ही यह कार्य होना चाहिए|प्लॉट की दरें तय होने के बाद उद्यमी को प्लॉट आवंटित/रजिस्ट्री होने तक दरों में वृद्घि न की जाये| क्लस्टर के लिए पहुंच मार्ग व्यस्थित हो, शहर की सीमा में क्लस्टर हो| क्लस्टर बनने के बाद वहां सुरक्षा व्यवस्था का भी ध्यान रखा जाये| जिला उद्योग एवं व्यापार केन्द्र के सहायक प्रबंधक-श्री अनिल श्रीवास्तव ने कहा कि क्लस्टर मैन्युफेक्चरिंग इण्डस्ट्री के लिए डवलप किया जाता है और उसमें आधारभूत सुविधाएं शासन द्बारा मुहैया कराई जाती हैं| आज आपसे चर्चा का उद्देश्य ही यही है कि आपकी प्राथमिकताओं को हम जानें और उसके अनुरूप डीपीआर बनाकर शासन को भेजें| आपके बताये अनुसार ही फर्नीचर, रंदा मशीन/मिसलेनियस, पेन्ट एवं हार्डवेयर के लिए प्लॉट व आकार अनुरूप डीपीआर बनाई जायेगी| बैठक का संचालन मानसेवी सचिव-डॉ. प्रवीण अग्रवाल तथा आभार कोषाध्यक्ष-वसंत अग्रवाल द्बारा व्यक्त किया गया| बैठक में कार्यकारिणी सदस्य-संजीव अग्रवाल कुक्कू, आशीष जैन, बाराघाटा इण्डस्ट्रीज एसोसिएशन के अध्यक्ष-सोबरन सिंह तोमर, टिम्बर व्यवसायी-गिर्राजकिशोर अग्रवाल, महेन्द्र कुमार अग्रवाल, राजेश अग्रवाल, गिर्राज अग्रवाल, डॉ. सत्येन्द्र सिंह आदि उपस्थित थे|

थाटीपुर पुनर्घनत्वीकरण योजना हमारे लिए ही नहीं बल्कि ग्वालियरवासियों के लिए भी एक चैलेंज है: श्री भरत यादव आवासीय सह व्यवसायिक (न्यू टाउनशिप, थाटीपुर) पुनर्घनत्वीकरण योजना पर चेम्बर भवन में चर्चा आयोजित ग्वालियर ८ जनवरी| म.प्र. चेम्बर ऑफ कॉमर्स एण्ड इण्डस्ट्री (एमपीसीसीआई) में आज थाटीपुर पुनर्घनत्वीकरण योजना पर चर्चा एवं सुझाव कार्यक्रम का आयोजन किया गया| कार्यक्रम में मुख्य अतिथि के रूप में म.प्र. हाउसिंग बोर्ड के आयुक्त-श्री भरत यादव उपस्थित रहे| कार्यक्रम के प्रारंभ में चेम्बर पदाधिकारियों द्बारा अतिथियों का बुके देकर स्वागत किया गया| इस अवसर पर अध्यक्ष- विजय गोयल द्बारा स्वागत उद्बोधन देते हुए कहा कि श्री भरत यादव जी हमारे ग्वालियर के ही हैं, इसलिए ग्वालियर इनके हृदय में बसता है| इस प्रोजेक्ट के माध्यम से आप ग्वालियर को एक नई सौगात दे सकते हैं| थाटीपुर शहर के मध्य में है इसलिए यह योजना ग्वालियर के लिए अभूतपूर्व होगी| तय समय सीमा में यह प्रोजेक्ट पूरा हो और इसमें आप मल्टी लेवल पार्किंग बनायें ताकि आप उस पार्किंग को सेलआउट कर सकें| बैठक में आये सुझावों व आपके द्बारा लाये गये प्रस्तावों को आप सर्वे के आधार जांचकर आगे बढें| कार्यक्रम का संचालन कर रहे मानसेवी सचिव-डॉ. प्रवीण अग्रवाल ने सुझाव दिया कि हमारे शहर में माधव प्लाजा जैसे निर्माण कार्य भी हुए हैं| इसलिए आप इस योजना की प्लानिंग एक साथ करें| बैंकिंग फायनेंस की सुविधा के साथ प्लान बनायें| इसमें प्रायवेट हॉस्पीटल का प्रावधान रखा जाये| वर्तमान में यहां स्थापित शासकीय संस्थानों को साडा क्षेत्र में शिफ्ट करें, जिससे वहां भी विकास हो सके| इसमें छोटी एवं बड़े साइज की दुकानों के ब्लॉक अलग बनाये जायें| थाटीपुर पुनर्घनत्वीकरण योजना पर इंदौर से पधारे आर्किटेक्चर श्री जितेन्द्र मेहता द्बारा विस्तृत पॉवर पॉइन्ट प्रजेंटेशन दिया| मुख्य अतिथि एम.पी. हाउसिंग बोर्ड के आयुक्त-श्री भरत यादव ने कहा कि यह प्रोजेक्ट बहुत महत्वपूर्ण है, १५ साल से इसकी प्लानिंग चल रही है| यह प्रोजेक्ट ग्वालियर को बिजनिस हब बनाने में भी महत्वपूर्ण भूमिका अदा करेगा| इंदौर व भोपाल में भी ऐसी प्राइम लोकेशन व ३० हैक्टेयर भूमि उपलब्ध नहीं है| ग्वालियर में विकास की बहुत संभावनायें हैं यह प्रोजेक्ट हमारे लिए ही नहीं बल्कि ग्वालियरवासियों के लिए भी एक चैलेंज है| आपने कहा कि अभी इस भूमि पर कई अपात्र लोग भी निवास कर रहे हैं| हम जांच कर रहे हैं और अपात्रों को दिये गये स्थान निरस्त कर दिये जायेंगे तथा पात्र पाये गये अधिकारियों/कर्मचारियों को इस प्रोजेक्ट के पूरा होने तक उनके पद व वेतनमान अनुसार किराया देंगे| यहां जो पेड़ लगे हैं, उन्हें आवश्यकतानुसार स्थानांतरित करेंगे| हमारा प्रयास होगा कि यहां की ग्रीनरी को कम से कम नुकसान पहुंचे| हम इसका सर्वे करा रहे हैं| यहां स्थित कार्यालयों को भी साडा में शिफ्ट करने पर विचार करेंगे| हम इस पूरी ३० हैक्टेयर भूमि का एक मास्टर प्लान बना रहे हैं| यहां के लिए पानी व सीवेज के लिए आगामी ३०-४० वर्ष की प्लानिंग लेकर चल रहे हैं| हमें इस कार्य में चेम्बर ऑफ कॉमर्स के सहयोग की जरूरत है, आपके सहयोग से ही यह कार्य हो पायेगा| आज की चर्चा मात्र वर्कशॉप बनकर नहीं रहेगी| आगामी ३ माह में इस पर कार्य शुरू करेंगे| आपने कहा कि इस योजना में ४५०० मीटर के दो प्लॉट हैं, उनके लिए हम शीघ्र ही बिड निकालेंगे ताकि इससे प्राप्त धन से हम कार्य शुरू कर सकें| कार्यकारिणी सदस्य-महेश मुदगल ने सुझाव दिया कि इसे शीघ्र चालू करायें| पूरी प्लानिंग का नक्शा एक बार बने| इसके प्रारंभ होने व पूर्ण होने की अवधि सुनिश्‍चित करें और इसे उस अवधि में पूर्ण भी करें| इस योजना में जो मंदिर हैं, उन्हें न तोड़ें बल्कि उन्हें और सुंदर बनायें| पूर्व मानसेवी संयुक्त सचिव-जगदीश मित्तल ने कहा कि इस योजना में मिलने वाली दुकान/प्लॉट की दरें एक बार तय होने पर प्रोजेक्ट में देरी होने पर न बदली जायें| दुकानों २००-३०० वर्गफुट की हों पर इस योजना में गोडाउन भी बनाये जायें| चर्चा में कार्यकारिणी सदस्य-श्री उमेश उप्पल ने कहा कि इस टाउनशिप योजना को टुकड़ों में नहीं बल्कि समग्र योजना बनायें| फिर चाहे इसे आप डेवलप करें या अन्य कोई पर उसका डिजायन, फ्रंट व कलर आपके अनुसार ही रहें, ताकि एकरूपता रहे| इसमें टूरिज्म का भी ध्यान रखा जाये| गौरव जैन ने सुझाव दिया कि पुणे स्थित मगरपट्टा की तर्ज पर इसे डेवलप किया जाये| कंस्ट्रक्शन एक एजेंसी के द्बारा हो| इसका डेवलपर मल्टीसिटी का अनुभव रखता हो| इसमें आप चाहें तो मॉल के लिए भी स्थान दे सकते हैं, जिससे आपको शीघ्र ही राजस्व प्राप्त हो सकेगा| मनोज राजपाल ने सुझाव दिया कि भविष्य में मेट्रो की संभावना को देखते हुए इसमें मेट्रो स्टेशन के लिए भी प्रावधान रखा जाये| बैठक में सदस्यों ने प्लॉट साइज शहरवासियों से फीडबैक लेकर तय करने, इसमें पेट्रोल पंप, कन्वेंशन सेंटर के लिए भी स्थान आरक्षित करने का सुझाव दिया| सीताराम धाकड़ द्बारा गोडाउन नहीं बनाये जाने का सुझाव दिया| कार्यक्रम के अंत में मुख्य अतिथि पूर्व मानसेवी संयुक्त सचिव-जगदीश मित्तल, कार्यकारिणी सदस्य-महेश मुदगल एवं उमेश उप्पल द्बारा स्मृति चिन्ह प्रदान किया गया| कार्यक्रम का संचालन एवं आभार मानसेवी सचिव- डॉ. प्रवीण अग्रवाल द्बारा व्यक्त किया गया|

Contact us.

Please provide All the Mandatory Details !!
Successfully Saved Your Response !!
 

Phone .

+91-7512382917
+91-7512632916
+91-7512371691

Address .

Madhya Pradesh Chamber of Commerce & Industries , Chamber Bhawan , SDM Road, Gwalior (MP)

E-mail .

info@mpcci.in
pro@mpcci.in